‘Chhalaang’ team shared memories related to their school | ‘Chhalaang’ की टीम ने बताए अपनी स्कूल के मजेदार सीक्रेट्स, जानिए कौन था फिसड्डी

नई दिल्ली: फिल्म ‘छलांग (Chhalaang)’ की कास्ट और निर्देशक साझा कर रहे हैं कि वो उन बीते हुए दिनों में अपने पीटी कक्षा में कैसे थे और उनका अपने पीटी अध्यापक से किस तरह की घनिष्ठता थी. अपने पीटी अध्यापक के साथ जुड़ी खूबसूरत यादों के बारे में फिल्म निर्माता हंसल मेहता ने कहा, ‘मेरे पीटी टीचर का नाम लेनी गोन्साल्विस था, जो मेरे स्कूल में आने से पहले से थे और मेरे स्कूल छोड़ने के काफी बाद तक भी स्कूल में थे. जब मेरे बच्चे स्कूल जाने को तैयार हो गए थे, वो तब भी उसी स्कूल में थे. अभी कुछ सालों पहले उनकी मौत हो गई.’

हंसल बनाते थे जाली हेल्थ सर्टिफिकेट
उन्होंने बताया, ‘मुझे याद है कि लेनी के पास एक रूलर था और वे सबको अपनी हथेली सामने लाने को कहते थे और हथेली पर मारने के लिए सबके पीछे भागते थे, क्योंकि कोई भी पीटी की कक्षाओं को गंभीरता से नहीं लेता था. ‘मैं तुम्हें एक काट दूंगा’ ये उनकी लाइन हुआ करती थी. मुझे याद है, वो हमें स्कूल के मैदान के तीन चक्कर काटने को कहते थे और तीन सालों तक मैंने एक डॉक्टर की लिखी हुई पर्ची उन्हें दिखाई, जिसमें लिखा था कि मुझे एपेन्डिसाइटिस है. चूंकि मैं एक चिकित्सकों के परिवार से था, इसलिए यह जाली चिट्ठी का इंतजाम कर लेता था और तीन साल तक स्कूल में मैंने कोई खेल नहीं खेला. कहीं न कहीं यह फिल्म मुझे याद दिलाती है कि अगर मैंने उस वक्त इन कक्षाओं को गंभीरता से लिया होता तो आज मैं थोड़ा और फिट होता.’

नुसरत का था खेलों में बुरा हाल
नुसरत भरूचा ने कहा, ‘स्पोर्ट्स की हर क्रिया में मैं हमेशा एक कोने में बैठी रहती थी और ऐसा ढोंग करती थी कि मेरी तबीयत ठीक नहीं है, क्योंकि हमारे अध्यापक हमें चुभती हुई गर्मी में बाहर खेलने को कहते थे और मुझे ये बिल्कुल भी पसंद नहीं था. मुझे याद एक बार एक अध्यापक ने मुझे एक दौड़ में भाग लेने को कहा और बदले में मेक डोनाल्ड में ट्रीट देने का वादा भी किया. इसलिए ये एक ही दौड़ थी, जिसमें मैंने भाग लिया. इस बारे में बताते हुए मुझे शर्म आती है, क्योंकि ये दौड़ एक सुई-धागा दौड़ थी. मुझे दूसरे अंत तक भागना था, जहां पर पहले से दूसरा व्यक्ति एक सुई और धागा हाथ में लेकर खड़ा हुआ था. उस सुई में धागा पिरोकर मुझे दौड़कर वापस आना था. सबसे मजेदार बात थी कि इसमें भी मैं प्रथम नहीं आ सकी, मुझे दूसरा ही स्थान प्राप्त हुआ.’

राजकुमार राव को पसंद थे स्पोस्ट्स टीचर 
अभिनेता राजकुमार राव ने कहा, ‘मेरे पीटी अध्यापकों के साथ बहुत अधिक घनिष्ठता थी, क्योंकि मैं खेलों में बहुत अच्छा था और हमेशा ही अलग-अलग खेलों में भाग लेता था. मेरे अध्यापक मेरा सदा ध्यान रखते थे और उन्होंने हमेशा मुझे अधिक मेहनत करने के लिए और उच्च चीजों की प्राप्ति को लक्ष्य बनाने के लिए प्रेरित किया.’

हंसल मेहता द्वारा निर्मित यह फिल्म ‘छलांग’ लव फिल्मस प्रोडक्शन की है, जिसे गुलशन कुमार एवं भूषण कुमार ने प्रस्तुत किया है. अजय देवगन, लव रंजन और अंगुर गर्ग द्वारा निर्मित इस फिल्म में बहुमुखी प्रतिभावान राजकुमार राव और नशरत भरूचा मुख्य भूमिकाओं में है और इनके साथ सौरभ शुक्ला, सतीश कौशिक, जिशान आयूब, इला अरूण और जतिन सरना अहम किरदार निभा रहे हैं. फिल्म ‘छलांग’ दिवाली के मौके पर 13 नवंबर को रिलीज होगी.

एंटरटेनमेंट की और खबरें पढ़े



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *