Indian share markets may open higher today, here is the today’s strategy | आज बढ़त पर खुल सकते हैं भारतीय शेयर बाजार, कमाई के लिए ये होगी रणनीति

नई दिल्ली: भारतीय शेयर बाजारों (Indian share markets) के लिए आज विदेशी संकेत अच्छे हैं, बाजार आज मजबूती के साथ खुल सकते हैं. SGX Nifty में 40 अंकों से ज्यादा की मजबूती दिख रही है, ये 11670 के ऊपर है. अमेरिकी वायदा बाजारों में भी जबर्दस्त रिकवरी है, शुरुआत में Dow Futures 200 अंकों से ज्यादा की गिरावट दिखा रहा था, अब ये करीब करीब फ्लैट हो चुका है और हरे निशान में लौट रहा है. Nasdaq Futures में भी मजबूती लौटी है. 

बाकी एशियाई बाजारों की बात करें तो चीन के शंघाई कंपोजिट के छोड़कर बाकी एशियाई मार्केट हरे निशान में काम कर रहे हैं. शंघाई कंपोजिट में 1.5 परसेंट की बड़ी गिरावट है, जापान का निक्कई 1.5 परसेंट मजबूत है औह हॉन्ग कॉन्ग का हैंग सेंग भी 1 परसेंट मजबूत है

शुक्रवार को विदेशी बाजार 

अमेरिकी बाजारों में शुक्रवार को गिरावट रही, Dow Jones 158 अंक गिरकर बंद हुआ, S&P500 में 40 अंक और Nasdaq में 274 अंक की भारी गिरावट रही. मार्च के बाद अक्टूबर का महीना अमेरिकी बाजारों के लिए सबसे खराब रहा. अक्टूबर में डाओ जोंस 4.6 परसेंट तक टूटा. 
यूरोपीय बाजारों में कोरोना का डर अब भी है. लंदन का FTSE फ्लैट रहा, जर्मनी के DAX में चौथाई परसेंट से ज्यादा की गिरावट रही और फ्रांस का CAC आधा परसेंट मजबूती के साथ बंद हुआ. 

विदेशी बाजारों से संकेत 

अमेरिका में कल राष्ट्रपति चुनाव के लिए वोटिंग होगी, दुनिया भर के बाजारों की इस पर नजर है. इसके अलावा गुरुवार को फेड की पॉलिसी आएगी, साथ ही बैंक ऑफ इंग्लैंड की पॉलिसी भी आने वाली है. इसी हफ्ते अक्टूबर के बेरोजगारी के आंकड़े भी आएंगे. तीसरी तिमाही में यूरोपियन यूनियन की GDP 12.7 परसेंट की बढ़त दर्ज हुई है. 

शुक्रवार को अमेरिकी बाजारों में IT शेयरों में जमकर मुनाफावसूली रही, जिसकी वजह से नैस्डेक 2.5 परसेंट तक टूट गया. दुनिया भर में कोरोना को लेकर एक बार फिर चिंताएं बढ़ गई हैं. शुक्रवार को अमेरिका में 1 लाख नए मामले आए और 1000 लोगों की मौत हो गई, इस रिकॉर्ड उछाल ने अमेरिकी बाजारों का मूड बिगाड़ दिया. फ्रांस और जर्मनी के बाद अब इंग्लैंड ने भी एक महीने का लॉकडाउन लगा दिया है. हांलाकि इस दौरान स्कूल, कॉलेज और कुछ जरूरी सेवाएं जारी रहेंगी. 

आज की रणनीति 

हमारे सहयोगी चैनल ज़ी बिज़नेस के मैनेजिंग एडिटर अनिल सिंघवी के मुताबिक अमेरिकी बाजारों में चिंताएं जरूर हैं लेकिन भारत के लोकल फैक्टर काफी मजबूत हैं. यूरोप और अमेरिका में कोरोना का डर है. जबकि भारत में GST कलेक्शन 1 लाख करोड़ रुपये पहुंच गया, ये अच्छे फैक्टर हैं. आज भारतीय बाजारों की शुरुआत कैसे होगी अमेरिकी वायदा बाजारों से तय होगा. 

अनिल सिंघवी के मुताबिक आज निफ्टी के लिए सपोर्ट रेंज 11550-1600 और ऊपरी रेंज 11725-11775 होगी, बैंक निफ्टी के लिए सपोर्ट रेंज 23450-23550 और ऊपरी रेंज 24250-24350 होगी. 

ये भी पढ़ें: साल भर में दोगुना हुए आलू के भाव, प्याज अब भी रुला रहा, भाव 90 रुपये तक पहुंचे

VIDEO



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *