Kerala became the first state in the country with a high tech class in all government schools; laptops, projectors and webcams are installed in 42 thousand classes from 8th to 12th | सभी सरकारी स्कूलों में हाई टेक क्लास वाला देश का पहला राज्य बना केरल, 8वीं से 12वीं तक की कुल 42 हजार क्लासेस में लगाए गए लैपटॉप, प्रोजेक्टर, वेबकैम

  • Hindi News
  • Career
  • Kerala Became The First State In The Country With A High Tech Class In All Government Schools; Laptops, Projectors And Webcams Are Installed In 42 Thousand Classes From 8th To 12th

17 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

डिजिटल इंडिया का सपना पूरा करने की राह में आगे बढ़ते हुए केरल देश का पहला ऐसा राज्य बन गया है, जिसके सभी सरकारी स्कूलों में हाई टेक क्लासेस हैं। इस बारे में खुद राज्य के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने सोमवार को जानकारी देते हुए इसे ‘‘गौरवपूर्ण उपलब्धि” बताया। सीएम ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिए बताया कि राज्य के बच्चों के लिए सभी क्लासेस इंटरनेशनल लेवल पर अपग्रेड करने के साथ ही हाई टेक आईटी लैब की स्थापना भी की गई है। इस योजना के तहत लैपटॉप, प्रोजेक्टर, वेबकैम और प्रिंटर के साथ ही तीन लाख से ज्यादा डिजिटल उपकरण उपलब्ध कराए गए हैं।

दुनिया के सामने पेश किया शिक्षा का केरल मॉडल

विजयन ने कहा, ‘‘केरल देश का ऐसा पहला राज्य बन गया है, जिसके सभी सरकारी स्कूलों में बच्चे हाई टेक क्लासेस में पढ़ाई करेंगे।” उन्होंने बताया कि इससे शिक्षा को काफी बढ़ावा मिलेगा और सरकार भी शिक्षा देने में विशेष रूचि ले रही है। इसी के तहत राज्य ने ‘‘हमारी भीवी पीढ़ी के लिए शिक्षा का केरल मॉडल” दुनिया के सामने पेश किया है। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि, ‘‘वामपंथी सरकार का दृढ़ निर्णय है कि शिक्षा को समाज के सभी तबके के लिए सुगम बनाया जाए। ऐसे में शिक्षा के क्षेत्र में राज्य की यह पहल गौरवशाली उपलब्धि है।”

42 हजार क्लासेस को बनाया गया हाई टेक

राज्य सरकार के मुताबिक, यह काम सरकारी शिक्षा कायाकल्प मिशन के तहत किया है, जिसका मकसद सभी क्लासेस को इंटरनेशनल लेवल का बनाना और हाई टेक प्रयोगशाला बनाना है। मिशन के तहत आठवीं से 12वीं तक की कुल 42 हजार क्लासेस को लैपटॉप, प्रोजेक्टर और स्क्रीन से लैस किया गया है और स्कूलों में स्टूडियो बनाए गए हैं। एक ऑफिशियल विज्ञप्ति में बताया गया कि सुनिश्चित किया गया है कि सभी प्राइमरी एवं सेकंडरी स्कूलों में कम से कम एक स्मार्ट क्लास और कंप्यूटर लैब हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *