Nagrota Encounter: trick of terrorists did not work, know full story of attack | नगरोटा मुठभेड़: काम नहीं आई आतंकियों की चालाकी, जानिए एनकाउंटर की पूरी कहानी

श्रीनगर: जम्मू (Jammu) के नगरोटा (Nagrota) में गुरुवार सुबह हुए एनकाउंटर (Encounter) में सुरक्षाबलों ने चार आतंकियों को ठिकाने लगाकर पाकिस्तान की एक बड़ी साजिश नाकाम कर दी. इस एनकाउंटर में सुरक्षा बलों ने एके सीरिज की 11 राइफलों समेत हैंड ग्रेनेड, रॉकेट लॉन्चर, पिस्टल समेत कई खतरनाक हथियार बरामद किए. सुरक्षाबलों के मुताबिक यदि आतंकी कश्मीर में घुसने में कामयाब हो जाते तो वे मुंबई की तरह बड़े कत्लेआम को अंजाम दे सकते थे.

सांबा बॉर्डर के जरिए भारत में घुसे आतंकी
जम्मू कश्मीर पुलिस के मुताबिक जैश ए मोहम्मद (JeM) से जुड़े चारों आतंकी जम्मू के सांबा बॉर्डर के जरिए भारत में घुसे. वहां से उन्होंने कश्मीर जाने के लिए चावल से भरे ट्रक में शरण ली. वे चावल की बोरियों के बीच जगह बनाकर बैठ गए और आसानी से कई पोस्ट पार करते हुए गुरुवार सुबह 4.45 बजे नगरोटा बन टोल तक पहुंच गए.

पुलिस चेकिंग के दौरान ड्राइवर भाग निकला
नगरोटा बन टोल पर जम्मू कश्मीर पुलिस का स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (SOG) चेकिंग कर रहा था. उस चेक पोस्ट की सहायता के लिए पास में ही CRPF और सेना की चेक पोस्ट भी बनी हुई थी. SOG ने जैसे ही चावल से ट्रक को जांच के लिए रोका, उसका ड्राइवर नीचे उतरकर भाग गया. उसके भागते ही पुलिस को उस पर शक हुआ. एक टीम उसके पीछे लपकी, जबकि बाकी टीम ने ट्रक को घेर लिया.

बाहर निकलने के लिए आतंकियों ने फेंका ग्रेनेड
खुद को घिरा देख आतंकियों ने ट्रक से बाहर निकलने के लिए हैंड ग्रेनेड फेंका. ग्रेनेड अटैक होते ही पास की पोस्ट पर तैनात CRPF और सेना के जवान भी मौके पर पहुंच गए और ट्रक को चारों ओर से घेर लिया. इसके साथ जम्मू-कश्मीर हाईवे को वाहनों के लिए बंद कर दिया गया. तब तक दोनों पक्षों में फायरिंग शुरू हो चुकी थी. इस गोलीबारी में SOG के 4 जवान घायल हो गए, जिन्हें जम्मू के अस्पताल में भर्ती कराया गया. 

ढाई घंटे में सुरक्षाबलों ने चारों आतंकी ढेर किए 
करीब ढाई घंटे तक दोनों ओर से चली फायरिंग में आतंकियों ने ट्रक से बाहर निकलने की खूब कोशिश की. लेकिन सुरक्षाबलों ने ताबड़तोड़ गोलियां चलाकर चारों आतंकियों को मार गिराया. हैवी फायरिंग की वजह से ट्रक में आग लग गई. आग लगने के बाद भी जब काफी देर तक कोई हलचल नहीं हुई तो पानी डालकर फायर को बुझाया गया. उसके बाद चावल की बोरी हटाकर तलाशी ली गई तो वहां पर चार आतंकियों के शव बरामद हुए. आग और फायरिंग की वजह से चारों के शव बुरी तरह जल चुके थे. 

ट्रक में मिला भारी असलहा, कत्लेआम मचाने की थी तैयारी
ट्रक की तलाशी के दौरान उसमें से एके सीरिज की 11 राइफलें, चीन में बने हुए 30 हैंड ग्रेनेड, रॉकेट लॉन्चर से दागे जाने वाले 6 ग्रेनेड, 3 पिस्टल, 2 आईईडी रिमोट, 2 कटर, दवाई, कंबल, सूखे मेवे और अर्धनिर्मित विस्फोटक मिले. आग लगने की वजह से उनमें से कई राइफलें जल चुकी थी और हथगोले फट चुके थे. पुलिस के मुताबिक जम्मू में आतंकियों से हुई हथियारों की यह सबसे बड़ी बरामदगी थी.

पंचायत चुनावों में बाधा डालना चाहते थे आतंकी
कश्मीर जोन के आईजी विजय कुमार ने बताया कि नगरोटा में मारे गए आतंकी जम्मू कश्मीर में होने जा रहे पंचायत चुनाव में बाधा डालने की मंशा रखते थे. उन्होंने कहा कि मारे गए चारों आतंकी पाकिस्तानी थे. उनके मरने से पंचायत चुनावों पर आने वाला बड़ा संकट खत्म हो गया है. उन्होंने कहा कि पंचायत चुनाव में खड़े होने वाले उम्मीदवारों को हम पूरी सुरक्षा प्रदान करेंगे. 

ये भी पढ़ें- बैंक खाते में हैं Zero Balance फिर भी निकाल सकते हैं पैसा, इस तरीके का करिए इस्तेमाल

उम्मीदवारों को सेफ जोन में रख रही है पुलिस 
आईजी ने कहा कि सुरक्षा बलों की कमी को देखते हुए नई रणनीति बनाई गई है. पुलिस टीम सभी उम्मीदवारों को सुरक्षित जगहों पर रख रही है. जब वे चुनाव प्रचार करने जाते हैं तो वहां पर उन्हें पुलिस की ओर से एस्कॉर्ट दिया जाता है. चुनाव प्रचार के बाद उन्हें सुरक्षा घेरे में वापस सेफ जोन में ले आया जाता है. 

LIVE TV



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *