क्या वाकई बढ़ा है बैंकों का सर्विस चार्ज? वित्त मंत्रालय का आया ये बयान

नई दिल्ली: बीते दिनों से बैंकों द्वारा सर्विस चार्ज बढ़ाये जाने की खबरें चल रही हैं. इस पर वित्त मंत्रालय का बयान आया है. वित्त मंत्रालय (Finance Minister) ने कहा है, किसी भी सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक (PSB) द्वारा सर्विस चार्ज में कोई वृद्धि नहीं की गई है. बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank of baroda) ने भी प्रति माह बैंक खाते में मुफ्त नकद जमा लेनदेन की संख्या के संबंध में लिया गया निर्णय वापस ले लिया है.

यह भी पढें: दिवाली से पहले और सस्ते हुए काजू, किशमिश, बादाम, लेकिन जल्द बढ़ेंगी कीमतें, जानिए क्यों

वित्त मंत्रालय के एक बयान में कहा गया है, 1 नवंबर 2020 से बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank of baroda) ने मुफ्त नकद जमा और निकासी की संख्या के संबंध में कुछ बदलाव किए थे. मुफ्त नकद जमा और निकासी की संख्या प्रति माह पांच से घटाकर तीन प्रति माह कर दी गई थी. अब बैंक ऑफ बड़ौदा ने सूचित किया है कि वर्तमान में कोरोना वायरस (Coronavirus) के बाद बनीं स्थितियां देखते हुये उन्होंने अपना निर्णय वापस लेने का फैसला लिया है. इसके अलावा, किसी अन्य पीएसबी ने हाल ही में इस तरह का कोई चार्ज नहीं बढ़ाया है.’

RBI के हैं निर्देश
हालांकि, RBI के दिशानिर्देशों के अनुसार सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों (PSB) सहित सभी बैंकों को अपनी सेवाओं के लिए उचित, पारदर्शी और गैर-भेदभावपूर्ण तरीके से शुल्क लगाने की अनुमति है. बैंक इसी आधार पर ही तमाम चार्ज लगाती हैं. लेकिन फिलहाल कोरोना वायरस के मद्देनजर निकट भविष्य में भी किसी भी बैंक ने शुल्क बढ़ाने का प्रस्ताव नहीं किया है.

BSBD पर कोई चार्ज नहीं
बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट (BSBD) खातों के संबंध में कहा, 60.04 करोड़ खाता धारकों पर कोई सेवा शुल्क लागू नहीं है. इनमें 41.13 करोड़ जन धन खाते शामिल हैं, जो RBI द्वारा गरीबों के लिये निर्धारित मुफ्त सेवाओं के प्रावधान के तहत खोले गये हैं.

LIVE TV
 



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *