दिमाग में बदलाव के कारण भी होता है डिप्रेशन, जानें इसका इलाज

डिप्रेशन को दूर करने के लिए कुछ घरेलू उपाय भी अपना सकते हैं.

डिप्रेशन को दूर करने के लिए कुछ घरेलू उपाय भी अपना सकते हैं.

कुछ लोगों में दिमाग (Brain) में बदलाव के कारण भी डिप्रेशन (Depression) की स्थिति पैदा हो सकती है. इसकी वजह डॉक्टरों को अभी तक पता नहीं चली है, लेकिन डिप्रेशन मस्तिष्क के कामकाज के प्रभावित होने से शुरू होता है.



  • Last Updated:
    October 13, 2020, 6:50 AM IST

डिप्रेशन (Depression) एक ऐसी समस्या है जिसे समय पर पहचानना और सही इलाज जरूरी है. यह एक मानसिक स्वास्थ्य (Mental Health) संबंधी विकार है, जिसमें लगातार उदासी और दैनिक गतिविधियों में रुचि या खुशी न रहना, बुरा महसूस करना, किसी भी चीज से लगाव न होना, चिड़चिड़ापन, अपराधबोध जैसे लक्षण नजर आते हैं. गंभीर मामलों में तो सुसाइड से जुड़े ख्याल भी आते हैं. डिप्रेशन होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे हॉर्मोन में बदलाव, मौसम में परिवर्तन, जीवन में कोई बड़ा बदलाव भी हो सकता है. यह वंशानुगत भी हो सकता है. इसके अलावा दिमाग में परिवर्तन भी इसके कारणों में से एक है.

myUpchar से जुड़े एम्स के डॉ. ओमर अफरोज का कहना है कि कुछ लोगों में दिमाग में बदलाव के कारण भी डिप्रेशन की स्थिति पैदा हो सकती है. इसकी वजह डॉक्टरों को अभी तक पता नहीं चली है, लेकिन डिप्रेशन मस्तिष्क के कामकाज के प्रभावित होने से शुरू होता है. इसलिए कुछ मनोचिकित्सक डिप्रेशन के मामलों में ब्रेन केमिस्ट्री की मदद लेते हैं. मस्तिष्क में न्यूरोट्रांसमीटर खुशी और आनंद की भावनाओं को प्रभावित करते हैं और अवसाद की स्थिति में इनमें असंतुलन होता है. ये न्यूरोट्रांसमीटर विशेष रूप से सेरोटोनिन, डोपामाइन या नोरेपेनेफ्रिन हैं। एंटीडिप्रेंटेंट्स न्यूरोट्रांसमीटर को संतुलित करने का काम करता है. यह विशेष रूप से सेरोटोनिन को बैलेंस करता है. हालांकि, न्यूरोट्रांसमीटर संतुलन से बाहर क्यों निकल जाते हैं और डिप्रेशन में इसकी क्या भूमिका है, इसका अभी तक पता नहीं चल पाया है.

ऐसे संभव है इलाजडिप्रेशन का इलाज दवाइयों, साइकोथेरेपी और सपोर्ट सिस्टम के जरिए किया जाता है. डिप्रेशन से गुजर रहे व्यक्ति को दी जाने वाली साइकोलॉजिकल या टॉकिंग थेरेपी में कॉग्निटिव बिहेवियरल थेरेपी, इंटरपर्सनल साइकोथेरेपी और समस्या निवारण उपचार शामिल हैं. कॉग्निटिव बिहेवियरल थेरेपी और इंटरपर्सनल थेरेपी दो मुख्य प्रकार की साइकोथेरेपी हैं, जिनका इस्तेमाल डिप्रेशन को ठीक करने के लिए करते हैं. कॉग्निटिव में आमने-सामने, ग्रुप में सैशन किया जाता है.

एंटीडेप्रेसेंट्स दवाइयां मध्यम से लेकर तीव्र डिप्रेशन को ठीक करने के लिए दी जाती है. डिप्रेशन के गंभीर मामलों में जिन लोगों को इलाज से फर्क नहीं पड़ा है, उन्हें इलेक्ट्रोकन्वल्सिव थेरेपी से लाभ हो सकता है. इसके अलावा एरोबिक एक्सरसाइज की सलाह भी दी जाती है, क्योंकि यह न्यूरोट्रांसमीटर नोरेपेनेफ्रिन को उत्तेजित करता है. यह न्यूरोट्रांसमीटर मूड से संबंधित है जो कि हल्के डिप्रेशन को ठीक कर सकता है.

अपनाएं ये घरेलू उपचार

myUpchar से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला का कहना है कि डिप्रेशन को दूर करने के लिए कुछ घरेलू उपाय भी अपना सकते हैं. इसके लिए कुछ खाद्य पदार्थों का सेवन सकारात्मक प्रभाव डाल सकता है. इसमें हल्दी, काजू, बादाम, केसर, कद्दू के बीज, गिलोय आदि का सेवन कर सकते हैं. इसके अलावा लाल गुलाब के काढ़े का सेवन फायदेमंद साबित हो सकता है. शतावरी पाउडर भी मानसिक स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा होता है. इसमें फोलिक एसिड और ट्रिप्टोफेन है जो कि मूड बढ़ाने वाले केमिकल को रिलीज करते हैं.अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, इलायची तेल से लेकर, लाल गुलाब, बादाम, केसर और गुडुची तक डिप्रेशन के घरेलू उपाय पढ़ें.न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं. सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है. myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं.

अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही News18 जिम्मेदार होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *