रवींद्र जडेजा को मिली कोच रवि शास्त्री से दूर रहने की सलाह, जानिए वजह

रवींद्र जडेजा को रवि शास्त्री से दूर रहने की सलाह क्यों मिली? (साभार-जडेजा इंस्टाग्राम)

रवींद्र जडेजा को रवि शास्त्री से दूर रहने की सलाह क्यों मिली? (साभार-जडेजा इंस्टाग्राम)

रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) ने सोशल मीडिया पर एक फोटो शेयर की है, जिसपर फैंस ने दिलचस्प कमेंट किये

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    December 22, 2020, 6:17 AM IST

नई दिल्ली. ऑस्ट्रेलिया दौरे पर चोट की वजह से टी20 सीरीज के दो मुकाबले और पहला टेस्ट मैच नहीं खेल पाने वाले ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा को हेड कोच रवि शास्त्री से दूर रहने की सलाह मिल रही है. दरअसल जडेजा (Ravindra Jadeja) ने सोशल मीडिया पर एक फोटो पोस्ट की जिसके बाद फैंस ने ऐसे कमेंट करने शुरू किये.

जडेजा की तस्वीर पर रवि शास्त्री क्यों हुए ट्रोल?
सोमवार को रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) ने सोशल मीडिया पर एक तस्वीर पोस्ट की, जिसमें वो कॉफी पी रहे हैं. इसपर जडेजा ने एक बेहद दिलचस्प मैसेज लिखा. जडेजा ने लिखा, ‘कॉफी, क्योंकि वाइन के लिए ये समय जल्दी है.’

जडेजा के इस पोस्ट को पढ़कर फैंस ने दिलचस्प कमेंट किया और उन्होंने इस ऑलराउंडर को रवि शास्त्री से दूर रहने की सलाह दी.

जडेजा की फोटो पर फैंस ने किये जबर्दस्त कमेंट (ट्विटर स्क्रीनशॉट)

बॉक्सिंग डे टेस्ट में खेल सकते हैं जडेजा
बता दें रवींद्र जडेजा ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टी20 के दौरान चोटिल हो गए थे. गेंद उनके सिर पर लग गई थी जिसकी वजह से वो आखिरी दो टी20 और पहले टेस्ट मैच में नहीं खेल पाए थे. हालांकि अब कहा जा रहा है कि रवींद्र जडेजा बॉक्सिंग डे टेस्ट में खेल सकते हैं. जडेजा को हनुमा विहारी की जगह प्लेइंग इलेवन में मौका मिल सकता है.

जडेजा एक अच्छे गेंदबाज तो हैं ही साथ में वो छठे नंबर पर अच्छी बल्लेबाजी भी करते हैं. उनका अनुभव टीम इंडिया के काम आ सकता है. भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के एक वरिष्ठ सूत्र ने पीटीआई को बताया, ‘अगर जडेजा लंबे स्पैल फेंकने के लिए फिट हो जाता है तो फिर बहस का कोई बात ही नहीं है. जडेज अपने आलराउंड कौशल के आधार पर विहारी की जगह लेगा. साथ ही इससे हमें एमसीजी में पांच गेंदबाजों के साथ उतरने का विकल्प मिलेगा.’

हार से भड़के शोएब अख्तर, कहा-पाकिस्तानी टीम में क्लब स्तर के बच्चों से भी कम अक्ल

जडेजा ने 49 टेस्ट में 35 से अधिक की औसत से 1869 रन बनाए हैं जिसमें एक शतक और 14 अर्धशतक शामिल हैं. उन्होंने ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के पिछले दौरों पर अर्धशतक जड़े थे.
दूसरी तरफ विहारी ने 10 टेस्ट में 576 रन बनाए हैं जिसमें वेस्टइंडीज के खिलाफ शतक के अलावा चार अर्धशतक शामिल हैं. उन्होंने 33 से अधिक के औसत से रन बनाए हैं. लोगों का यह भी मानना है कि अगर बल्लेबाजी कौशल पर ध्यान दें तो भी ‘विशेषज्ञ विहारी’ और ‘ऑलराउंडर जडेजा’ में अधिक अंतर नहीं है. (भाषा के इनपुट के साथ)



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *