स्‍टीव स्मिथ ने की इयान चैपल की बेइज्‍जती, कहा-हर मैच के बाद देते हैं विचित्र बयान

स्मिथ ने कहा कि ऐसा लगता है कि इस समय इयान चैपल प्रत्येक मैच के बाद विचित्र बयान दे रहे हैं.

स्मिथ ने कहा कि ऐसा लगता है कि इस समय इयान चैपल प्रत्येक मैच के बाद विचित्र बयान दे रहे हैं.

पूर्व कप्तान इयान चैपल ने पुछल्ले बल्लेबाजों को शॉर्ट पिच गेंदों से बचाने की वकालत की थी. इस बयान पर स्‍टीव स्मिथ ने कहा कि शॉर्ट गेंदें खेल का हिस्सा है

एडिलेड. ऑस्ट्रेलिया के स्टार बल्लेबाज स्टीव स्मिथ (Steve Smith) ने पुछल्ले बल्लेबाजों को शॉर्ट पिच गेंदों से बचाने की वकालत करने के पूर्व कप्तान इयान चैपल ( Ian Chappell) के बयान को ‘विचित्र’ करार देते हुए कहा कि शॉर्ट गेंदें खेल का हिस्सा हैं. खेल के लोकप्रिय विशेषज्ञों में शामिल चैपल ने बाउंसर पर प्रतिबंध को खारिज किया था, लेकिन सिर में चोट और चक्कर आने जैसी स्थिति के बढ़ते मामलों को देखते हुए निचले क्रम के बल्लेबाजों को बचाने के लिए उन्होंने नियमों को कड़ा करने की बात की. स्मिथ हालांकि इस सुझाव से सहमत नहीं हैं.

स्मिथ ने ‘एसईएन मॉर्निंग्स’ से कहा कि ऐसा लगता है कि इस समय इयान चैपल प्रत्येक मैच के बाद विचित्र बयान दे रहे हैं. उन्होंने कहा कि मेरे नजरिए से शॉर्ट गेंद खेल का हिस्सा हैं. हमने वर्षों से देखा है कि काफी अच्छा संघर्ष देखने को मिला है और मुझे नहीं लगता कि इन्हें अवैध घोषित किया जा सकता है.

यह भी पढ़ें: 

IND vs AUS: वसीम जाफर ने दिया अजिंक्य रहाणे को ‘सीक्रेट मैसेज’, बॉक्सिंग डे के लिए दी खास सलाहIND VS AUS: सिडनी टेस्ट पर मंडराया कोरोना का खतरा, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने बनाया ये नया प्लान

सिर में चोट लगने के कई मामले आ चुके हैं सामने 

स्मिथ ने जोर देते हुए कहा कि उन्हें तेज गेंदबाजों के निचले क्रम के बल्लेबाजों को शॉर्ट गेंदबाजी करने में कोई समस्या नहीं है. भारत और ऑस्ट्रेलिया (India vs Australia) के बीच टेस्ट सीरीज से पहले सिर में चोट और चक्कर आने जैसी स्थिति के काफी मामले सामने आए, जिसके बाद तेज गेंदबाजों के बाउंसर का इस्तेमाल करने को लेकर बहस तेज हो गई.ऑस्‍ट्रेलिया ने पहले टेस्‍ट मैच में भारत को 8 विकेट से मात दी थी. दोनों के बीच दूसरा मुकाबला 26 दिसंबर से मेलबर्न में खेला जाएगा और मेजबान की नजर इस मुकाबले को जीतकर सीरीज में अपनी स्थिति मजबूत करने की होगी.



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *