IIT JEE Advanced 2021| For the first time, students get third chance for JEE Advanced, due to Corona, candidates who are unable to give the exam this year will be able to appear in JEE Advanced – 2021 again | पहली बार JEE एडवांस्ड के लिए मिलेगा तीसरा मौका, कोरोना की वजह से इस साल परीक्षा नहीं दे पाए कैंडिडेट्स JEE एडवांस्ड- 2021 में दोबारा हो सकेंगे शामिल

  • Hindi News
  • Career
  • IIT JEE Advanced 2021| For The First Time, Students Get Third Chance For JEE Advanced, Due To Corona, Candidates Who Are Unable To Give The Exam This Year Will Be Able To Appear In JEE Advanced 2021 Again

20 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

कोरोना वायरस के कारण इस साल JEE एडवांस्ड की परीक्षा नहीं दे पाए कैंडिडेट्स को अगले साल एक और मौका दिया जाएगा। ज्वाइंट एडमिशन बोर्ड ने एक साल के लिए एलिजिबल कैंडिडेट्स के लिए एडमिशन के नियमों में बदलाव करते हुए JEE एडवांस्ड-2020 में शामिल नहीं हो पाए स्टूडेंट्स के लिए राहत का ऐलान किया है। ऐसे स्टूडेंट्स को अब JEE एडवांस्ड- 2021 में दोबारा बैठने का मौका दिया जाएगा। हालांकि, यह सुविधा सिर्फ उन कैंडिडेट्स को दी जाएगी, जिन्होंने परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन कराया था, लेकिन वह परीक्षा में शामिल नहीं हो पाए।

सिर्फ इस साल दी जाएगी सुविधा

इस सिलसिले में ज्वाइंट एडमिशन बोर्ड की बैठक के दौरान केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी, सभी IIT के डायरेक्टर, नेशनल टेस्टिंग एजेंसी, UGC और AICTE के पदाधिकारी भी मौजूद रहे। दरअसल, बोर्ड ने JEE एडवांस्ड- 2021 के लिए एक और मौका देने वाली स्टूडेंट्स की मांग पर यह विशेष बैठक बुलाई थी। बैठक में JEE मेन्स 2020 से JEE एडवांस्ड 2020 के लिए सफल ऐसे कैंडिडेट्स, जिन्होंने रजिस्ट्रेशन करवाया था, लेकिन कंटेनमेंट जोन, कोविड-19 पॉजिटिव या किसी अन्य कारण से परीक्षा नहीं दे पाए, उन्हें जेईई एडवांस्ड 2021 में एक अन्य मौका देने का फैसला किया गया। कैंडिडेट्स ध्यान दे कि यह मौका सिर्फ इस साल कोरोना की वजह से दिया जाएगा।

करीब पांच हजार स्टूडेंट्स को फायदा

IIT प्रबंधन के मुताबिक, इस फैसले से पांच हजार से ज्यादा कैंडिडेट्स को फायदा मिलेगा। इस साल JEE मेन्स-2020 में से टॉप 2.50 लाख स्टूडेंट्स ने JEE एडवांस्ड के लिए क्वालिफाइड किया था। हालांकि, उसमें से सिर्फ 1,60, 864 स्टूडेंट्स ने ही परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करवाया था। इसमें से 1,55, 551 स्टूडेंट्स ने ही परीक्षा दी थी। ऐसे कैंडिडेट जिन्होंने एडवांस्ड पोटर्ल पर रजिस्ट्रेशन करवा लिया था, लेकिन फीस नहीं दी थी, वे भी इस नए फैसले के लिए एलिजिबल होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *