IND vs AUS: Virat Kohli blames batsman after losing 1st test against australia by 8 wickets | IND vs AUS: शर्मनाक हार के बाद भावुक हुए Virat Kohli, बल्लेबाजों पर फोड़ा हार का ठीकरा

एडिलेड: 46 साल पहले जून 1974 में इंग्लैंड के खिलाफ भारतीय टीम 42 रनों पर ढेर हो गई थी. जो अब तक टीम इंडिया का टेस्ट की एक पारी में न्यूनतम स्कोर था. लेकिन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टेस्ट में भारतीय बल्लेबाज ताश के पत्तों की तरह ढह गए. महज 36 रनों पर टीम ऑल आउट हो गई और विराट सेना ने एक शर्मनाक रिकॉर्ड अपने नाम किया. 

टीम के इस निराशाजनक प्रदर्शन के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) बेहद आहत है और उन्होंने इस बात को स्वीकार किया कि उनके पास ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले डे-नाइट टेस्ट मैच में मनोबल तोड़ने वाली हार को व्यक्त करने के लिए शब्द नहीं हैं.

कोहली ने अपनी टीम के न्यूनतम स्कोर के लिए बल्लेबाजों को दोष दिया, जिन्होंने किसी तरह का जज्बा नहीं दिखाया.

भारतीय टीम दूसरी पारी में अपने न्यूनतम स्कोर 36 रन पर आउट हो गई और ऑस्ट्रेलिया ने पहला टेस्ट मैच आठ विकेट से जीतकर चार मैचों की श्रृंखला में 1-0 से बढ़त बनाई. 

IND vs AUS: Mohammed Shami का बॉक्सिंग डे टेस्ट खेलने पर सस्पेंस, स्कैन रिपोर्ट का इंतजार

कोहली (Virat Kohli) ने मैच के बाद कहा, ‘भावनाओं को शब्दों में व्यक्त करना बहुत मुश्किल है. हमारे पास 60 रन के करीब बढ़त थी और इसके बाद हमारी पारी बिखर गई. आप दो दिन तक कड़ी मेहनत करके खुद को अच्छी स्थिति में रखते हो और एक अचानक एक घंटे में स्थिति बदल जाती है और फिर जीत असंभव बन जाती है’.

उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि हमें आज थोड़ा जज्बा दिखाना चाहिए था. अपने इरादे जतलाने चाहिए थे. उन्होंने (ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों) पहली पारी में भी इसी तरह गेंदबाजी की थी लेकिन तब हमारी मानसिकता रन बनाने की थी’.

कोहली (Virat Kohli) ने कहा कि ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों ने कुछ अच्छी गेंदें की लेकिन उन्होंने पहली पारी की तुलना में कुछ खास नया नहीं किया. उन्होंने कहा, ‘मेरा मानना है कि यह मानसिकता थी. यह स्पष्ट था. ऐसा लग रहा था कि रन बनाना बहुत मुश्किल है और गेंदबाजों का आत्मविश्वास बढ़ गया. यह जज्बे की कमी और ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों का सही क्षेत्र में गेंद करने का संयोजक था’.

कोहली अब अपने पहले बच्चे के जन्म के लिए स्वदेश लौट जाएंगे. उनकी जगह बाकी बचे तीन टेस्ट मैचों में अजिंक्य रहाणे टीम की अगुवाई करेंगे.

कोहली (Virat Kohli) ने कहा, ‘निश्चित तौर पर आप टीम के प्रति प्रतिबद्ध होना चाहते हैं. बेहतर परिणाम वास्तव में अच्छा होता. लेकिन मुझे पूरा विश्वास है कि खिलाड़ी बॉक्सिंग डे टेस्ट में मजबूत वापसी करेंगे’.

दूसरा टेस्ट मैच मेलबर्न में 26 दिसंबर से खेला जाएगा.



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *