Royal Challengers Bangalore Qualified in ipl 2020 Playoffs after defeated by Delhi Capitals | IPL 2020: हार के बावजूद प्लेऑफ में पहुंची RCB, ये रही वजह

अबू धाबी: इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) को दुनिया की सबसे बड़ी और मुश्किल टी20 लीग इसलिए कहा जाता कि क्योंकि इस टूर्नामेंट में आखिरी पल तक समीकरण बदलते रहते हैं. कुछ ऐसा ही उदाहरण आईपीएल 2020 (IPL 2020) के 55वें मैच में देखने को मिला.

जहां दिल्ली कैपिटल्स ने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (DC vs RCB) को 6 विकेट से रौंद कर प्लेऑफ में जगह बनाई. लेकिन दूसरी ओर इस मैच को हारने के बाद भी आरसीबी की टीम प्लेऑफ मुकाबलों के लिए क्वालीफाई कर गई. इस बीच जानते हैं उसी समीकरण के बारे में जो बैंगलोर के लिए संजीवनी बना. 

ये भी पढ़ें: IPL 2020: …तो क्या क्रिस गेल भी नहीं खेलेंगे आईपीएल? जानिए बड़ी वजह

नेट रनरेट ने आरसीबी को बाहर होने से बचाया

गौरतलब है कि कल तक ऐसा लगा रहा था कि दिल्ली कैपिटल्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (Royal Challengers Bangalore vs Delhi Capitals) के बीच हुए आज के इस मैच में जो टीम हारती. तो वह इस टूर्नामेंट से बाहर हो जाती. लेकिन आईपीएल 13 के इस अहम मुकाबले के बाद समीकरणों का असली फेरबदल शुरू हुआ.

जिसके आधार पर मैच के नतीजे से प्लेऑफ के लिए दिल्ली और बैंगलोर के सामने अड़चन पैदा नहीं हुई. दरअसल इस मैच के शुरू होने के बाद नेट रनरेट का मसाला निकलकर आया था. जिसके तहत आरसीबी को कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) से बेहतर नेट रनरेट के लिए 17.3 ओवर से पहले दिल्ली के खिलाफ मैच हारना नहीं था और हुआ भी कुछ ऐसा ही दिल्ली मैच को 19 ओवर तक ले गई. जिसके आधार पर बैंगलोर का नेट रनरेट फिलहाल -0.17 का है, जो केकेआर से अच्छा है. ऐसे में अब बैंगलोर की टीम अंक तालिका में तीसरे नंबर पर है. 

पिछले 4 मैच लगातार हारी है बैंगलोर 

बेशक रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम इस सीजन प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई कर गई है. लेकिन विराट कोहली (Virat Kohli) की टीम ने अपने पिछले 4 मैच लगातार हारे हैं. ऐसे में जब बैंगलोर की टीम इस टूर्नामेंट का ऐलमिनेटर मुकाबला खेलने उतरेगी तो यकीकन टीम का मनोबल थोड़ी फीका रहेगा. वहीं अब सही मायनों में आरसीबी की असली परीक्षा शुरू होनी है. क्योंकि रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के फैन्स को टीम से काफी उम्मीद हैं. 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *