Sensex Nifty new record stock market reached new record Over Brexit Trade Agreement । Brexit Trade Agreement: Sensex-Nifty का नया रिकॉर्ड, नई ऊंचाई पर पहुंचा Share Market

मुंबई: शेयर बाजारों (Share Market) में सोमवार को लगातार चौथे कारोबारी सत्र में तेजी का सिलसिला जारी रहा और सेंसेक्स (Sensex) और निफ्टी (Nifty) अपने नए उच्च स्तर पर पहुंच गए. अमेरिका में 2,300 अरब डॉलर के प्रोत्साहन पैकेज तथा ब्रेक्जिट व्यापार करार (Brexit Trade Agreement) से वैश्विक स्तर पर बाजारों में तेजी आई, जिसका भारत में असर देखने को मिला.

ऑल टाइम हाई लेवल पर पहुंचा
बीएसई (BSE) का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स (Sensex) 380.21 अंक या 0.81 प्रतिशत की बढ़त के साथ 47,353.75 अंक पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान सेंसेक्स ने एक समय 47,406.72 अंक का नया ऑल टाइम हाई लेवल छुआ. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (National Stock Exchange) का निफ्टी 123.95 अंक या 0.90 प्रतिशत की बढ़त के साथ 13,873.20 अंक पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान इसने 13,885.30 अंक का अपना सर्वकालिक उच्चस्तर छुआ.

इनके शेयर में बढ़ोतरी
सेंसेक्स की कंपनियों में टाइटन, एसबीआई (SBI), एलएंडटी (L&T), इंडसइंड बैंक (IndusInd Bank), अल्ट्राटेक सीमेंट (Ultratech cement), एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) और एशियन पेंट्स (Asian paints) के शेयर लाभ में रहे. इनके अलावा रिलायंस इंडस्ट्रीज, कोटक बैंक,  एचडीएफसी, आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक, भारती एयरटेल और ओएनजीसी के शेयरों में भी बढ़त रही.

क्रिसमस पर बाजार बंद रहे
वहीं दूसरी ओर हिंदुस्तान यूनिलीवर, सन फार्मा, डॉ. रेड्डीज और बजाज फिनसर्व के शेयरों में गिरावट रही. सेंसेक्स के 30 शेयरों में 26 में लाभ और चार में गिरावट आई है. पिछले कारोबारी सत्र में बृहस्पतिवार को सेंसेक्स 529.36 अंक या 1.14 प्रतिशत की बढ़त के साथ 46,973.54 अंक पर बंद हुआ था. वहीं निफ्टी 148.15 अंक या 1.09 प्रतिशत के लाभ से 13,749.25 अंक पर बंद हुआ था. शुक्रवार को क्रिसमस (Christmas) के अवसर पर बाजार बंद रहे.

ट्रंप ने शुरुआत में कानून को मंजूरी नहीं दी
जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के रिसर्च हेड विनोद नायर ने कहा, ‘सकारात्मक वैश्विक रुख से साल के अंतिम सप्ताह में भारतीय बाजार बढ़त के साथ खुले. अमेरिका में 2,300 अरब डॉलर के महामारी पैकेज की घोषणा तथा ब्रिटेन और यूरोपीय संघ के बीच ऐतिहासिक ब्रेक्जिट करार से वैश्विक बाजार चढ़ गए.’ अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने 2,300 अरब डॉलर के व्यय खर्च पर हस्ताक्षर कर दिए हैं. इनमें से 900 अरब डॉलर का कोरोना वायरस राहत पैकेज (Coronavirus relief package) शामिल है. हालांकि, ट्रंप ने शुरुआत कई दिन तक इस कानून को मंजूरी देने से इनकार कर दिया था. उन्होंने इस विधेयक को ‘अपमान’ बताया था.

यह भी पढ़ें: फिलहाल कोई नहीं खोलना चाहता नया ऑफिस, 44 प्रतिशत मांग घटी; ये है वजह

कोरोना वैक्सीन की उम्मीद का असर!
भारत में अब कोविड-19 का टीका (Corona Vaccine) आने की उम्मीद बढ़ी है. इससे भी घरेलू शेयर बाजारों की धारणा मजबूत हुई है. बीएसई स्मॉलकैप, मिडकैप और लार्जकैप का प्रदर्शन व्यापक बाजार रुख से बेहतर रहा और ये 1.49 प्रतिशत तक चढ़ गए. अन्य एशियाई बाजारों में चीन, जापान, दक्षिण कोरिया और हांगकांग उल्लेखनीय लाभ के साथ बंद हुए. इस बीच, वैश्विक बेंचमार्क ब्रेंट कच्चा तेल वायदा 1.25 प्रतिशत की बढ़त के साथ 51.94 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया. 

LIVE TV



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *