Tata to increase prices of commercial vehicles from next year onward | Tata के कॉमर्शियल वाहनों के बढ़ने वाले हैं दाम, जानिए इसकी वजह

नई दिल्ली: कम कीमतों में वाहन खरीदने का सबसे सही समय अभी भी है. अगले साल से निजी कारों से लेकर कॉमर्शियल वाहनों तक के दाम बढ़ सकते हैं. देश की बड़ी कंपनी टाटा मोटर्स ने पहले ही घोषणा कर दी है कि उनके कॉमर्शियल वाहनों के दाम अगले साल से बढ़ जाएंगे.

हमारी सहयोगी वेबसाइट zeebiz.com के मुताबिक, टाटा मोटर्स (Tata Motors) ने कहा है कि वह एम एंड एचसीवी (M & HCV), आई एंड एलसीबी (I & LCB) और बसों (Buses) की कीमतें बढ़ाने जा रही है. खबर के मुताबिक, कंपनी ने कहा है कि कीमत में वास्तविक बढ़ोतरी खास मॉडल और फ्यूल टाइप पर निर्भर करेगा. 

VIDEO

कंपनी ने बताई अपनी मजबूरी (why Tata Motors will hike price)

कंपनी ने अब तक लागत में बढ़ोतरी का भार कस्टमर्स पर नहीं डाला था. लेकिन अब लागत में बढ़ोतरी का कम से कम कुछ हिस्सा कस्टमर्स पर उचित मूल्य संशोधन के जरिये लागू करना जरूरी हो गया है.

टाटा मोटर्स ने कहा कि मिडियम और हेवी कॉमर्शियल गाड़ियों, मध्यवर्ती और हल्के कॉमर्शियल गाड़ियों (Intermediate and light commercial vehicles), छोटे कॉमर्शियल गाड़ियों और बसों के पोर्टफोलियो में मूल्य बढ़ोतरी होने की उम्मीद है.

ये भी पढ़ें- Credit Score जानने के लिए हो लोगों की Browsing History का इस्तेमालः IMF

महिंद्रा की भी गाड़ियां होंगी महंगी

खबर के मुताबिक, टाटा मोटर्स के अलावा, महिंद्रा एंड महिंद्रा भी 1 जनवरी, 2021 से अपने कॉमर्शियल गाड़ियों की कीमत बढ़ाएगी. भारत में पैसेंजर्स गाड़ियों की बिक्री जो ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री के परफॉर्मेंस का बैरोमीटर है, ने अप्रैल-जून में 78.43 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की. कोरोनावायरस के चलते लगे लॉकडाउन से बिक्री 20 सालों में सबसे लंबी मंदी रही. इधर, करीब सारी पैसेंजर्स कार कंपनियों ने भी अपनी व्हीकल्स के दाम 1 जनवरी से बढ़ाने की घोषणा कर दी है.

 



Source link

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *